ऊपर
ताइवान को लेकर चीन ने की 'दंडात्मक' सैन्य अभ्यास: बढ़ते तनाव के बीच बड़ी कार्यवाई
मई 24, 2024
के द्वारा प्रकाशित किया गया मधुर गावडे

परिचय

चीन और ताइवान के बीच संबंधों की जटिलता और उसमें विभिन्न कारक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। हाल ही में, गुरुवार को चीन की सेना ने ताइवान के निकट बड़े पैमाने पर 'दंडात्मक' सैन्य अभ्यास किया, जो दोनों देशों के बीच तनाव को और बढ़ा सकता है।

सैन्य अभ्यास का विस्तार

ताइवान पर चीन की यह कार्यवाई ताइवान के राष्ट्रपति लाई चिंग-ते के उद्घाटन भाषण के बाद की गई। बीजिंग ने इस भाषण को 'विभाजनकारी कृत्य' के रूप में देखा। ये सैन्य अभ्यास ताइवान स्ट्रेट और ताइपे नियंत्रित द्वीपों के आसपास किए गए, और इस कार्रवाई में सभी सैन्य शाखाओं की भागीदारी रही। पहली बार चीन के अभ्यास में यह क्षेत्र शामिल हुए हैं, जो तनाव को और बढ़ा रहे हैं।

ताइवान की प्रतिक्रिया

ताइवान की प्रतिक्रिया

ताइवान के रक्षा मंत्रालय ने इन सैन्य अभ्यासों की कड़ी निंदा की है और इन्हें क्षेत्रीय शांति और स्थिरता के लिए हानिकारक बताया है। उनका कहना है कि यह चीन की मिला-भाव की मानसिकता को दर्शाता है और ताइवान की सेना को उच्चतम सतर्कता पर रखा गया है।

चीन का दृष्टिकोण

चीन का मानना है कि ताइवान उसका अभिन्न हिस्सा है और ताइवान की स्वतंत्रता की हर कोशिश विफल होगी। पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) ने इन 'दंडात्मक' अभ्यासों को यह साफ करने के लिए किया गया कहा कि ताइवान को चीन के साथ एकीकृत होना ही पड़ेगा। यह कार्यवाई चीन की नीति को दर्शाते हैं, जो 'एक चीन नीति' को बढ़ावा देती है।

क्षेत्रीय स्थिरता और चिंताएँ

क्षेत्रीय स्थिरता और चिंताएँ

क्षेत्रीय स्थिरता पर यह घटनाएँ गंभीर प्रभाव डाल सकती हैं। सैन्य शक्ति के प्रदर्शन का यह कदम इलाके में अन्य देशों को भी मध्यस्थता की स्थिति में डाल सकता है। संयुक्त राज्य अमेरिका और यूरोपियन यूनियन ने भी ताइवान स्ट्रेट में शांति और स्थिरता की आवश्यकता को लेकर बयान जारी किए हैं।

भविष्य की दिशा

आगे देखते हुए, यह कहना कठिन है कि यह टकराव कहां तक जाएगा, लेकिन यह निश्चित है कि ऐसे कदमों से तनाव और बढ़ सकता है। दोनों पक्षों की ओर से कोई भी कार्रवाई इस क्षेत्र को उच्च जोखिम में डाल सकती है, और अंतरराष्ट्रीय मंचों पर इसके प्रभाव भी महसूस किए जा सकते हैं।

निष्कर्ष

चीन और ताइवान के बीच के मौजूदा हालात और सैन्य अभ्यास जैसे कदम, अंतरराष्ट्रीय समुदाय के लिए एक चिंतन का विषय बने हुए हैं। शांति और स्थिरता की दिशा में हर संभव कदम उठाए जाना चाहिए ताकि इस प्रकार की स्थितियों से बचा जा सके।

मधुर गावडे

लेखक :मधुर गावडे

मैं पत्रकार हूं और मैं मुख्यतः दैनिक समाचारों का लेखन करता हूं। अपने पाठकों के लिए सबसे ताज़ा और प्रासंगिक खबरें प्रदान करना मेरा मुख्य उद्देश्य है। मैं राष्ट्रीय घटनाओं, राजनीतिक विकासों और सामाजिक मुद्दों पर विशेष रूप से ध्यान देता हूं।

एक टिप्पणी लिखें

नवीनतम पोस्ट
21मई

के द्वारा प्रकाशित किया गया मधुर गावडे

19मई

के द्वारा प्रकाशित किया गया मधुर गावडे

14जून

के द्वारा प्रकाशित किया गया मधुर गावडे

11मई

के द्वारा प्रकाशित किया गया मधुर गावडे

15मई

के द्वारा प्रकाशित किया गया मधुर गावडे

हमारे बारे में

समाचार प्रारंभ एक डिजिटल मंच है जो भारतीय समाचारों पर केन्द्रित है। इस प्लेटफॉर्म पर दैनिक आधार पर ताजा खबरें, राष्ट्रीय आयोजन, और विश्लेषणात्मक समीक्षाएँ प्रदान की जाती हैं। हमारे संवाददाता भारत के कोने-कोने से सच्ची और निष्पक्ष खबरें लाते हैं। समाचार प्रारंभ आपको राजनीति, आर्थिक घटनाएँ, खेल और मनोरंजन से जुड़ी हुई नवीनतम जानकारी प्रदान करता है। हम तत्काल और सटीक जानकारी के लिए समर्पित हैं, ताकि आपको हमेशा अपडेट रखा जा सके।